अक्षयपात्र द्वारा लोगों दिया जा रहा है भोजन

Spread the love

अक्षयपात्र द्वारा एक लाख 37 हजार लोगों दिया जा रहा है भोजन

लखनऊ।

कोविड संक्रमण के मद्देनजर लॉकडाउन को देखते हुए अक्षयपात्र ने लखनऊ में फिर से भोजन वितरण शुरू कर दिया। फिलहाल यह भोजन इंडिया टीवी की तरफ से चारबाग, सरोजनी नगर व काकोरी में 12 मई से प्रतिदिन दिया जा रहा है। एक लाख 37 हजार लोगों यह भोजन दिया जाएगा। इसके साथ ही अक्षयपात्र द्वारा सिस्को के सहयोग से लखनऊ के स्कूली बच्चों में 20 हजार राशन किट का वितरण भी किया जाएगा।

लॉकडाउन के इस चरण में भी अक्षयपात्र फाउंडेशन लोगों को भोजन व राशन देने का निर्णय लिया है। पहले चरण में भी प्राइमरी विद्यालयों के बच्चों में राशन किट का वितरण किया गया था। प्रदेश सरकार के मंत्री चैधरी उदयभान सिंह, महेश गुप्ता, बलदेव औलख व लखनऊ मोहनलालगंज के विधायक अम्बरीष पुष्कर आदि द्वारा बच्चों में राशन किट का वितरण किया गया था। इन सभी किट में राशन व साबुन के साथ कापी, किताब, पेंसिल, बिस्किट, टूथ ब्रश व पेस्ट सहित 18 समान दिया गया था। 

पिछले बार लॉकडाउन के दौरान व लॉकडाउन के समाप्त होने के बाद भी अक्षयपात्र फाउंडेशन द्वारा लखनऊ शहर के साथ ग्राम परवर पश्चिम, शिवगुलाम खेड़ा, मेड़ई खेड़ा, मवैया, दुर्गा खेड़ा, गढ़ी आदि सैकड़ो गांव में जरूरतमंद लोगों को राशन किट दिया गया। अक्षयपात्र फाउंडेशन द्वारा राजधानी लखनऊ के साथ वाराणसी, मथुरा, अयोध्या, प्रयागराज, कानपुर, कन्नौज, बहराइच, गाज़ीपुर व सीतापुर के नैमिषारण्य सहित कई जिलों में राशन किट बांटा गया।

कोरोना संकट काल में अक्षयपात्र फाउण्डेशन के उपाध्यक्ष चंचलापति प्रभु के मार्गदर्शन में यह कार्यक्रम प्रारम्भ किया गया था। उनके अनुसार अक्षयपात्र संस्था की कोशिश रहती है कि देश मे कही कोई भूखा न रहे।

पिछले लॉकडाउन के समय मे अक्षयपात्र फाउंडेशन केवल उत्तर प्रदेश ही नहीं उत्तराखंड, आंध्र प्रदेश, असम, छत्तीसगढ़, दादरा और नगर हवेली, दिल्ली, गुजरात, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, ओडिशा, राजस्थान, तमिलनाडु, तेलंगाना व त्रिपुरा आदि में भी जरूरतमंदों को भोजन तथा राशन देने का काम किया।

लॉकडाउन से प्रभावित लोगों की मदद के लिए सरकार के राहत प्रयासों का समर्थन करते हुए इस फाउंडेशन द्वारा देश भर के विभिन्न स्थानों में दिहाड़ी मजदूर, औद्योगिक श्रमिक आदि बेघर लोगों को भोजन तथा राशन किट दिया गया।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *