किसानों की सहभागिता से ही होगा ग्राम्य विकास: भाजपा यूपी अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह

Spread the love

लखनऊ, 3 मार्च। किसान भारत की रीढ़ है और विकास हेतु एवं उनकी कृषि उत्पादकता बढ़ाने में सरकार पूर्ण रूप से कटिबद्व है। ये उदगार वक्ताओं ने किसानों के हित में सरदार पटेल द्वारा 1928 में किये बारडोली आंदोलन की चर्चा करते हुए व्यक्त किये। सरदार पटेल और गांव का विकास विषयक इस संगोष्ठी में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह बतौर मुख्य अतिथि मौजूद थे।

सरदार पटेल बौद्धिक विचार मंच की ओर से सांसद सतना व सभापति ओबीसी वेलफेयर कमेटी गणेश सिंह की अध्यक्षता में ग्रैण्ड जेबीआर गोमतीनगर में आयोजित परिचर्चा में अनेक मंत्री, सांसद व राजनीतिज्ञ उपस्थित थे।

इस मौके पर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह ने कहा कि देश की लगभग 70 प्रतिशत आबादी गांव में रहती है। पिछले 70 वर्षो में किसानों का विकास गति नहीं पकड़ पाया। वर्तमान सरकार इस दिशा में महत्वपूर्ण कार्य कर रही है। श्री सिंह ने बताया कि गांव का विकास कृषकों की सहभागिता से ही संभव है। गांव में उपलब्ध संसाधनों के आधार पर एक माडल गांव के विकास की कार्य योजना बनाकर किसानों की सहभागिता से उसे कार्यान्वित कर के ही गांव का विकास संम्भव है।

इस दौरान प्रदेश के सहकारिता मंत्री मुकुट बिहारी वर्मा ने कहा कि सहकारिता का ग्राम विकास में बहुत बड़ा योगदान है। देश का 90 फीसदी किसान किसी न किसी सहकारी संस्था से जु़ड़ा है। वह अपनी आवश्यकताओं को सहकारिता के माध्यम से पूरा करता है। सांसद महाराजगंज पंकज चौधरी ने कहा कि सरदार पटेल का जन्म एक कृषक परिवार में हुआ था और वह सदैव ही ग्राम एवं किसानों के विकास के लिए तत्पर रहे।

बौद्धिक मंच के महामंत्री जगदीश शरण गंगवार ने कहा कि वर्तमान सरकार ने समुदाय को बहुत कुछ दिया है लेकिन समुदाय की जनसंख्या 12 प्रतिशत है उस अनुपात में विभिन्न चयन आयोगों, सरकारी भर्ती संस्थाओं और विभिन्न वैधानिक में हमारा प्रतिनिधित्व न के बराबर है। उन्होंने राजनीतिक नियुक्तियों में भी उचित प्रतिनिधित्व की चर्चा की।

कार्यक्रम के दौरान नवनिर्वाचित सदस्य विधानपरिषद स्वतंत्रदेव सिंह ,इंजीनियर अवनीशकुमार सिंह, श्रीकांत कटियार को अंगवस्त्र, स्मृतिचिह्न देकर सम्मानित किया गया। इस दौरान सांसद फूलपुर केशरीदेवी पटेल, सांसद धौराहरा रेखा वर्मा सांसद बांदा आरके सिहं पटेल, सांसद महाराज गंज पंकज चौधरी विधायक कर्ण सिंह ने कहा कि सरदार पटेल किसानों के मसीहा थे उन्होनें सदैव किसानों के उत्थान के बारे में सोचा और कार्य किया।

संगोष्ठी में जेल मंत्री जयकुमार जैकी, उच्चशिक्षा राज्यमंत्री नीलिमा कटियार, उर्जा राज्यमंत्री रमाशकर सिंह के साथ अनेक लोकसभा व विधानसभा सदस्यों ने अपने विचार व्यक्त किये। समापन पर धन्यवाद ज्ञापन डा. क्षेत्रपाल गंगवार ने किया जबकि कार्यक्रम का सफल संचालन उमेश कुमार व योगेन्द्र सचान ने किया। इस दौरान आईएएस अरूण सिन्हा व हीरालाल , डा. अरूण सचान, आकाश वर्मा सहित अन्य लोग भी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *