काम की खबर: रसोई गैस सिलेंडर पर मिलता है 6 लाख का इंश्योरेंस, जानें क्या है प्रोसेस

Spread the love

Vidya Gyan Desk: भारत के ज्यादातर घरों में रसोई गैस सिलेंडर (LPG Gas Cylinder) पर खाना बनाया जाता है। लेकिन, क्या आपको पता है कि रसोई गैस कनेक्शन (Gas Cylinder Insurance)  के साथ आपको फ्री में इंश्योरेंस भी मिलता है?

दरअसल, हर गैस कनेक्शन के साथ कंपनी की तरफ से एक्सीडेंटल क्लेम दिया जाता है। अगर गैस सिलेंडर की वजह से कोई बड़ा हादसा होता है तो आप तेल कंपनी से इंश्योरेंस के लिए क्लेम कर सकते हैं। खास बात यह है कि जब आप नया कनेक्शन लेते हैं, उसी समय इंश्योरेंस कवर आपके कनेक्शन के साथ जुड़ जाता है।

कब मिलता है इंश्योरेंस क्लेम?

गैस कनेक्शन के साथ तेल कंपनियां 6 लाख रुपए तक का इंश्योरेंस देती है। अगर किसी वजह से घर में गैस सिलेंडर की वजह से कोई बड़ा हादसा हो जाता है, तो तेल कंपनी की तरफ से संबंधित बीमा कंपनी को जानकारी दी जाती है। इसके बाद इंश्योरेंस प्रोसेस शुरू होता है और जांच के बाद इंश्योरेंस क्लेम दिया जाता है।

मिलता है लाखों का बीमा

  1. एलपीजी सिलेंडर फटने की स्थिति में यदि किसी की मौत होती है तो गैस कंपनी प्रति व्यक्ति 6 लाख रुपये मुआवजे के रूप में देती है।
  2. यदि कोई व्यक्ति गैस सिलेंडर की वजह से हुए ब्लास्ट में घायल होता है तो उसके इलाज के लिए अधिकतम 2 लाख रुपये मिलते हैं।
  3. इसके साथ ही यदि धमाके में किसी की संपत्ति को नुकसान पहुंचता है तो इसके लिए 2 लाख रुपये तक मिलते हैं।

कैसे करें इंश्योरेंस क्लेम

  • गैस सिलेंडर की वजह से अगर कोई बड़ा हादसा होता है, तो सबसे पहले आपको थाने में जाकर FIR दर्ज करानी होगी।
  • FIR की कॉपी के साथ हादसे के बारे में डिस्ट्रीब्यूटर को जानकारी देनी होगी।
  • इसके बाद डिस्ट्रीब्यूटर अपनी रिपोर्ट बनाकर तेल कंपनी के पास भेजेगा।
  • रिपोर्ट मिलने के बाद तेल कंपनी की तरफ से इंश्योरेंस कंपनी की एक टीम आकर हादसे का आंकलन करेगी।
  • आंकलन के बाद ही टीम इंश्योरेंस क्लेम की राशि तय करती है।
  • इंश्योरेंस कंपनी द्वारा तय की गई राशि का भुगतान तेल कंपनी द्वारा किया जाएगा, जो सीधे डिस्ट्रीब्यूटर को भेजी जाती है।
  • डिस्ट्रीब्यूटर द्वारा इसके बाद इंश्योरेंस क्लेम की धनराशि क्लेम करने वाले परिवार को सौंपी जाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *